Breast Cancer Awareness In India – हिंदी में जानकारी

Breast Cancer Awareness

Breast Cancer Awareness In India
Breast Cancer Awareness In India

हेलो दोस्तो मैं आपका स्वागत करता हु हमारे ब्लॉग mygapshup.com में. दोस्तो हम हर रोज़ आपके लिए कुछ नया लेकर आते रहते है. और आज हम आपके लिए Breast Cancer Awareness In India यह टॉपिक लेकर आए है। जो बोहत ही गंभीर है। दोस्तों कई लोग Breast Cancer के बारे में इंटरनेट पर breast cancer causes, Breast Cancer Awareness, what is breast cancer, breast cancer information, breast cancer ngo india, breast cancer types इस तरह के टॉपिक सर्च करते है ताकि उनको Brest Cancer के बारे में सही इंफॉर्मेशन मिले। तो बस इसलिए हम आपके लिए Breast Cancer Awareness In India यह टॉपिक लेकर आए है। जो एक गंभीर बीमारी हो गई है और लोगो को जागरूक करना हमारा फर्ज है इसलिए हम यह टॉपिक लेकर आए है। दोस्तो मैं आपको ब्रेस्ट कैंसर के बारे में कुछ जानकारी देना चाहता हु। ताकि आप लोगो को पता चलने में आसानी हो। कि आखिर यह ब्रेस्ट कैंसर होता क्या है? और कैसे होता है। तो चलिए शुरू करते है आज का विषय Breast Cancer Awareness In India।

Breast Cancer Awareness In India

दोस्तो हमारे देश में Breast Cancer एक बोहत ही गंभीर बीमारी के रूप उबरकर आ रही है। देखा जाए तो पिछले कुछ सालों में Breast Cancer का खतरा दिन ब दिन बढ़ता ही जा रहा है। एक सर्वे हुआ था और उस सर्वे के अनुसार २०१५ में १ लाख ५० हजार Breast Cancer के नए नए केस सामने आये थे। जिसमें से ७६ हजार महिलाएं उस समय में जब डॉक्टर के पास पहुंची थी, तब उन महिलाओं की स्थिति काफी बिगड़ चुकी थी और उन महिलाओं को बचाना लगभग बोहत ही मुश्किल था।डॉक्टर्स का कहना हैं कि अगर आपकी फैमिली में किसी व्यक्ति को ब्रैस्ट कैंसर हुआ था, मतलब की अगर आपकी फैमिली हिस्ट्री है तो आपको भी कम से कम 20 साल की उम्र में एक बार तो जांच करा लेनी चाहिए। लगभग ४० साल की उम्र में एक मेमोग्राम करा लेना चाहिए। 

एक सर्वे हुआ था तो उस सर्वे के अनुसार भारत में २०१३ में ४७,५७८ महिलाओं की डेथ सिर्फ Breast Cancer से हो गई थी। और हर साल इसमें बढ़ोतरी हो रही है। डॉक्टर्स का यह कहना है कि इन दिनों महिला वर्ग में कैंसर में सबसे ज्यादा Breast Cancer के ही केस देखने को मिलते हैं। Breast Cancer के केस में ज्यादातर महिलाओं को तब पता चलता है जब उनकी स्थिति बोहत बिगड़ जाती है। Breast Cancer का सही समय पर पता चलना बोहत ही जरूरी है। हर साल भारत में लगभग १.५ लाख कैंसर के नए केसेस सामने आ रहे हैं, तकरीबन १ लाख महिलाओं में से रोजाना ३२ महिलाए Breast Cancer का शिकार हो रही हैं। खास इसलिए हमने आज के हमारे आर्टिकल में (Symptoms Of Breast Cancer) ब्रेस्ट कैंसर के लक्षणों को बताया है । Breast Cancer जैसी बीमारी से बचने का सबसे पहला स्टेप है Breast Cancer कि जांच। 

Symptoms Of Breast Cancer (स्तन कैंसर के लक्षण)

१) स्तन कैंसर (Breast Cancer) का प्रमुख लक्षण है स्तन (Breast) में सूजन होना।

२) स्तन कैंसर (Breast Cancer) का दूसरा प्रमुख लक्षण है, स्तन (Breast) में किसी भी प्रकार की गांठ या फिर किसी भी तरह का कोई परिवर्तन होना।

३) स्तन कैंसर (Breast Cancer) का तीसरा प्रमुख कारण है, स्तन (Breast) के आकार में किसी भी तरह का परिवर्तन होना।

४) स्तन कैंसर (Breast Cancer) का चौथा प्रमुख कारण है, स्तन (Breast) से डिस्चार्ज होना।

५) स्तन कैंसर (Breast Cancer) का पांचवा प्रमुख कारण है, स्तन (Breast) की त्वचा के रंग में बदलाव होना, हल्का गुलाबी होना।

६) स्तन कैंसर (Breast Cancer) का छठवा प्रमुख कारण है, स्तन में किसी भी तरह किसी भी प्रकार का कोई फुंसी या चकता होना।

७) स्तन कैंसर (Breast Cancer) का सांतवा प्रमुख कारण है, स्तन के तापमान में बढ़ोतरी होना।

८) स्तन कैंसर (Breast Cancer) का आंठवा प्रमुख कारण है, स्तन में दर्द होना।

यह थे (symptoms of breast cancer) स्तन कैंसर के प्रमुख लक्षण।

How To Check Breast Cancer (Breast Cancer Awareness)

Breast Cancer से बचने के लिए समय पर इसकी जाँच कर लेना बोहत ही जरूरी है। Breast Cancer की जाँच आप खुद भी घर पर कर सकते हैं या फिर डॉक्टर के पास जाकर भी कर सकते हैं। अपने मासिक के चौथे या तो पांचवें दिन आप अपने आप को स्क्रीन कर सकते हैं। आप अपने (Breast) स्तनों के चारों तरफ छू कर देख लीजिए कि कहीं कोई गाँठ है या नही। या कही कोई परिवर्तन हो रहा है या नही। अगर ऐसा कुछ हो रहा है तो देर न करते हुए तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।इसके अलावा आप हर तीन चार साल में डॉ के पास जाकर (Breast Cancer) स्तन कैंसर की जाँच जरूर करवाएं।

हमारे देश मे कई बार हर प्रकार की बीमारियों पर आयुर्वेदिक उपचार यानी के घरेलू नुस्खे आजमाए जाते है, लेकिन यहां पर (Breast Cancer) स्तन कैंसर इस बीमारी से सम्बंधित किसी भी प्रकार की सलाह को डॉक्टर से पूछे बिना कभी भी नही अपनाएं। दूसरी महत्वपूर्ण बात यदि किसी स्त्री को बच्चा होने के बाद ठीक से दूध नहीं आ रहा है, तो वो तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करें क्योंकि सही से फीडिंग ना होने पर मां को आगे कैंसर का खतरा बने रहने की संभावना होती है।

तो दोस्तो आपको हमारा आज का “Breast Cancer Awareness In India” यह विषय कैसा लगा यह हमें कमेंट करके जरूर बताइयेगा। और हमारा यह विषय पर लेख लिखने का सिर्फ यही एक कारण है कि हम आप सबको जागरूक कराए। हम आपके हित के लिए “Breast Cancer Awareness” यह आर्टिकल लेकर आए थे। इस आर्टिकल को इतना शेयर कीजिए कि सबको Breast Cancer के बारे में पता चले और ज्यादा से ज्यादा जानकारी मिले। और अभी तक आपने इस ब्लॉग mygapshup.com को सब्सक्राइब नही किया है तो अभी सब्सक्राइब कर लीजिये। ताकि हमारे आनेवाले हर नए विषय की खबर हर नए लेख की खबर आपको सबसे पहले मिलती रहे। सब्सक्राइब करने के लिए आपके मोबाइल पर जो घंटी दिख रही है। उसको दबाकर आप हमें सब्सक्राइब कर सकते हैं। या फिर अपना ईमेल एड्रेस टाइप करके सब्सक्राइब बटन पर क्लिक करके आप हमें सब्सक्राइब कर सकते हैं। तो दोस्तो “Breast Cancer Awareness In India” इसी के साथ मैं आपसे विदा लेता हूं फिर मिलेंगे एक नए आर्टिकल के साथ तब तक के लिए हंसते रहिये मुस्कुराते रहिये!
जय हिंद।

हमारे अन्य आर्टिकल भी पढ़ें

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

admin

(Amit Balghare) Founder of Mygapshup.com

One thought on “Breast Cancer Awareness In India – हिंदी में जानकारी

  • October 24, 2018 at 8:19 pm
    Permalink

    good information about breast cancer… is there any solution for that cancer on low cost? if yes then please tell me whats a treatment cost for that….thank you once again for the great and helpfull information in hindi….

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *