Hasi Ke Chutkule In Hindi, Chutkule Hi Chutkule

Hasi Ke Chutkule

 

Hasi Ke Chutkule In Hindi
Hasi Ke Chutkule

Hasi Ke Chutkule, दोस्तो, मैं अमित आपका फिर से एक बार स्वागत करता हु हमारे ब्लॉग में। दोस्तो हम हर दिन आपके लिए कुछ अलग लेकर आते रहते है. और आज हम आपके लिए “Hasi Ke Chutkule” यह टॉपिक लेकर आए है। जो आपको पेट भरकर हँसाने वाला है। तो चलिए शुरू करते हैं हमारा आज का विषय “Hasi Ke Chutkule“।

(Click Here For Powerful Motivation And Great Ideas That Can Change Your Life)

Hasi Ke Chutkule In Hindi

पत्नी अजी सुनते हो क्या आप मेरे साथ मायके आओगे क्या?
डॉ गुलाटी- ohh…what a stupid question….मेरे साथ मायके आओगे क्या?😯 इतने साल हुए हमारी शादी को तो मैंने कभी पूंछा तुम्हे मेरे साथ ऑपरेशन करने आओगी क्या?…😡
😂😂😂😂

●(कप्पू अपनी गर्लफ्रैंड के पिता डॉ गुलाटी से मिलने गया)
डॉ गुलाटी- देखो छेडुलाल, मैं नही चाहता कि मेरी सुशील सूंदर गुणवान बेटी किसी ऐरे गैर लूच्चे आदमी के साथ पूरी जिंदगी गुजारे।
कप्पू- बस डॉ साब इसीलिए तो मैं उसे यहाँ से ले जाने आया हु।
🤣🤣🤣🤣

●दुकानदार- अजी आइये डॉ साब आइये बोलो क्या दिखाऊ?
डॉ साब- मुझे एक ईयरफोन चाहिए।
दुकानदार- क्या मजाक कर रहे हैं डॉ साब आपके गले मे ही तो इतना बड़ा इयरफोन है ना फिर।
डॉ साब- पागल इंसान अनपढ़ गवार ये इयरफोन नही टेथस्कोप है।
😃😃😃😃

●कप्पू- डॉ साब ये क्या हो गया आपको? आपकी टांगे क्यों फ्रैक्चर हुई है?…
डॉ साब- वो एक ट्रक ने मुझे ठोक दिया था तो उसमें मेरी टांगे फ्रैक्चर हो गई। लेकिन मैं उसको छोडूंगा नही, एक बार मैं ठीक हो जाउ तब वो फ्रैक्चर होगा।
कप्पू- लेकिन वो ट्रक वाला कहा मिलेगा तुम्हे फिर से।
डॉ गुलाटी- क्या बात कर रहे हो😯 ऐसे कैसे नही मिलेगा। जब मैं निचे गिरा था तब मैंने पढ़ा था ट्रक के पीछे लिखा था “फिर मिलेंगें”…
😜😜😜😜

●डॉ गुलाटी ने अपने हॉस्पिटल के बाहर लिख दिया शहीदों को नमन🙏
कप्पू- डॉ साब ये क्या आपने हॉस्पिटल के बाहर क्या लिखा है, शहीदों को नमन🙏। आप तो किसी शहीदों को जानते नही हो।
डॉ गुलाटी- ये वो वाला नमन नही है कप्पू। ये तो मेरे हॉस्पिटल में मेरे हाथ से किये ऑपरेशन से जो ऊपर चले गए है उनके लिए मैंने लिखा है यहा पर “शहीदों को नमन”🙏…
😂😂😂😂

Lambi Hasi Ke Chutkule

●डॉ गुलाटी- तुम मेरी सुंदर सुशील बेटी से कब से प्यार करते आ रहे हो ?
कप्पू – पिछले 5 महीनों से प्यार करता हु डॉ साब।
डॉ गुलाटी – मगर मैं तुमपर कैसे यकीन करूं छेडुलाल 😐?
कप्पू – डॉ साब, बस 4 महीने और रुक जाओ सब पता चल जाएगा।
😉😉😉😉

●डॉ गुलाटी ने कस्टमर केयर को फोन लगाया।
कस्टमर केयर- Welcome to our helpline services, How can I help you sir?
डॉ गुलाटी- देखो my self डॉ मशहूर गुलाटी “MMKNG”…
कस्टमर केयर- “MMKNG” मतलब?
डॉ गुलाटी- ohhh… MMKNG नही पता तुम्हे😐 MMKNG मतलब मेरा मोबाइल कुत्ता निगल गया।
कस्टमर केयर- इसमें हम क्या कर सकते है सर?
डॉ गुलाटी- Oh…What a good question…इसमें हम क्या कर सकते है। देखो या तो तुम मेरा कुत्ता मुझे ढूंढ के दे दो या फिर नया लेटेस्ट मोबाइल फ़ोन दे दो।
कस्टमर केयर- नही सर हम आपकी नया मोबाइल नही दे सकते और ना ही आपके कुत्ते को ढूंढ सकते है। और कोई जानकारी चाहते है आप?
डॉ गुलाटी- हॉ😯 एक काम करो मोबाइल और कुत्ता ना सही अपना घर का एड्रेस और टेलीफोन नंबर दे दो।
कस्टमर केयर- Have Good Day Sir…(Call cut)
😝😝😝😝

●एक बार डॉ गुलाटी चंदू का ऑपरेशन कर रहे थे, इसीबीच चंदू को होश आया।
चंदू- डॉ साब ये आप क्या कर रहे हो?
डॉ गुलाटी- Oh…What a faltu question…मैं क्या कर रहा हु?..मेरे हाथ मे कैंची है मुँह पे मास्क है आजूबाजू में नर्स खड़ी है और पूछ रहे हो क्या कर रहे हो, दिख नही रहा तुम्हे तुम्हारा ऑपरेशन कर रहा हु।😐
चंदू- हा तो ऑपेरशन ही करना था तो मुझे बेहोश क्यों किया था डॉ साब।😯
डॉ गुलाटी- ऐसे कैसे बोल रहा है तू, अगर तुझे बेहोश ना करता तो तू ऑपेरशन सिख जाता और अपना खुद का धंदा शुरू कर देता ना।😡
😜😜😜😜

●कप्पू- डॉ साब, मुझे लॉटरी चाहिए अभी के अभी।
डॉ गुलाटी- हा तो लॉटरी वाले के पास जाओ ना यहां पर क्यों आये हो?
कप्पू- डॉ साब, मैं तो लॉटरी वाले के पास ही आया हु।
डॉ गुलाटी- मैं तो लॉटरी नही बेचता।😮
कप्पू- क्या बात कर रहे हो डॉ साब, वो आपकी सिस्टर है ना लॉटरी मैं उसकी बात कर रहा हु।😕
डॉ गुलाटी- जबान संभलकर बात करो छेडुलाल, वो मेरे हॉस्पिटल की सिस्टर है। और वो मेरे लिए भी सिर्फ लॉटरी है समझे छेडुलाल।😐
🤣🤣🤣🤣

Chandu Ke Hasi Ke Chutkule

●डॉ गुलाटी- चंदू एक चाय लेकर आओ।
चंदू- ये लो डॉ साब चाय, निकालो 100 रुपये।
डॉ गुलाटी- एक चाय 100 रुपये की😲।
चंदू- नही डॉ साब, चाय तो 6 रुपये की है।
डॉ गुलाटी- तो बाकी के 94 रुपये ज्यादा क्यों मांग रहे हो?
चंदू- वो क्या है डॉ साब, आप चाय पीने के बाद चाय की बेइज्जती तो जरूर करोगे, तो बाकी 94 उस बेइज्जती के है। और मैं उधार नही रखता अब।
डॉ गुलाटी- अच्छा, ये बात है। रुक मैं कप्पू को भी बुलाता हु।
चंदू- कप्पू को क्यों?
डॉ गुलाटी- 94 रुपये की बेइज्जती बोहत बड़ी होनी चाहिए ना।
😜😜😜😜

●एक बार डॉ गुलाटी चंदू का ऑपरेशन कर रहे थे।
चंदू- डॉ साब मेरा अपेंडिक्स का ऑपरेशन हो रहा था ना तो फिर आपने मेरी किडनी क्यों निकाली।☹️
डॉ गुलाटी- वो क्या है, मेरी किडनी फेल हो गई है और तुम्हारा पेट तो मैंने खोल दिया था तो इसलिए सोचा कि लगे हाथ अपने लिए एके किडनी निकाल लू।🤐
😜😜😜😜

●(एक बार चंदू की किडनी फेल हो गई और वो इलाज करवाने के लिए डॉ गुलाटी के पास गया और बोला)
चंदू- डॉ साब, मेरी किडनी फेल हो गई हैं प्लीज़ कुछ करो।
डॉ गुलाटी- Ohhh…वैसे कौन से Subject में फैल हुई है तुम्हारी किडनी।
😆😆😆😆

●चंदू- डॉ साब, मुझे बुखार आया है प्लीज कुछ करो।
डॉ गुलाटी- चंदू खबरदार अगर वापस मेरे पास छोटी छोटी बीमारी लेकर आया तो।☹️अगर लाना ही है तो कुछ बड़ा लेकर आते।
चंदू- डॉ साब, आप भी दुनिया मे आना चाहते तो ढंग का मुँह लेकर आते।
😂😂😂😂

तो दोस्तो आपको हमारा आज का Hasi Ke Chutkule यह विषय कैसा लगा या हमारे बचपन के कोट्स कैसे लगे यह हमें कमेंट करके जरूर बताइयेगा। और अभी तक आपने हमारे ब्लॉग को सब्सक्राइब नही किया है तो अभी सब्सक्राइब कर लीजिये ताकि हमारे आनेवाले हर एक नए विषय की खबर हर एक नए आर्टिकल की खबर आपको सबसे पहले मिलती रहे। तो Hasi Ke Chutkule इसी के साथ मैं आपसे विदा लेता हूं फिर मिलेंगे एक नए आर्टिकल के साथ तब तक के लिए हंसते रहिये मुस्कुराते रहिये और बने रहिये हमारे साथ mygapshup.com पर।
जय हिंद।

आप यहां पर नीचे क्लिक करके हमारे अन्य जोक्स और शायरी पढ़ सकते है।

●Whatsapp Funny Chutkule

●Fadu Status For Facebook

●Very Very Very Funny Jokes

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry

admin

(Amit Balghare) Founder of Mygapshup.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *